Kashmir Diary - final Part

कैसे हो दोस्तों ? आज मैं कश्मीर पर आधारित अपना आखरी ब्लॉग लिखने वाला हूं | आज मैं आपको बताऊंगा वे सब बातें जो कि मेरे साथ घटित हुई कश्मीर में | कश्मीर में मेरा पहला दिन बहुत ही अच्छा था | मुझे बहुत खुशी हो रही थी कि मैं कश्मीर में हूं | कश्मीर वाकई बहुत खूबसूरत है और सच कहूं तो यहां के लोग भी बहुत अच्छे हैं | उनका दिल बिल्कुल साफ है | मैं कश्मीर में रिलायंस जिओ के प्रोजेक्ट में गया हुआ था | रिलायंस जिओ के प्रोजेक्ट पर काम करते हुए मुझको लगभग पूरा कश्मीर घूमना था | मैं कश्मीर में कहां कहां गया इसका तो मैं आपको पूरा विवरण नहीं दे पाऊंगा लेकिन मैं आपको कुछ शहर बता देता हूं जहां पर मैं गया | जैसे की बुगड़ाम, पुलवामा, बटपोरा, अनंतनांग, कुलगाम, गुलमर्ग हाईवे, अवन्तिपुर, पम्पोर, राजपोरा, पहलगाम हाईवे, नाटीपोरा, नॉवपोरा, त्राल, लोज़े डारौ, लाजुरा, निलहपुरा, Nowpora Payeen, Niklora | मैं पूरा तो नहीं कहता लेकिन हां लगभग आधा कश्मीर घूम गया था | मैं फिर से कहना चाहूंगा अगर आप को जन्नत में आना है तो यहां पर एक बार जरूर आयें | डल झील के किनारे का वह शाम का समय बहुत ही मनमोहक है | अगर आप एक बार यहां पर आते हैं तो आपका जाने का बिल्कुल मन नहीं करेगा आप यहीं के होकर रह जाना चाहेंगे | कश्मीर जन्नत है अगर मैं यहां के लोगों की बात करुं तो मैं ऐसे ही हवा में बात नहीं करूंगा, जो मेरे साथ हुआ मैं आपको सिर्फ वही बताऊंगा और दिल की सच्चाइयों से बताऊंगा | जब मैं यहां पर आया तो जियो के प्रोजेक्ट मैनेजर ने मुझे बताया कि आपके साथ एक बंदा गाड़ी लेकर जाया करेगा जिसका नाम अर्शिद है | मेरी पहली मुलाकात अर्शिद से कैसी थी यह मैं अच्छी तरह से नहीं बता पाऊंगा क्योंकि मुझे अच्छी तरह याद नहीं है | लेकिन हां इतना जरूर कहूंगा कि अरशद कुछ ही टाइम में मेरा अच्छा दोस्त बन गया या सच कहूं तो मेरा भाई बन गया वह बिल्कुल मेरे भाई जैसा है और उसका साथ शायद ही मैं कभी भूल पाऊंगा |उसका नेचर  बहुत अच्छा था और उसके साथ मेरा बहुत मन लगता था वह हमको साइट पर ले जाया करता था क्योंकि उसको हर साइट का एड्रेस पता रहता था | उसको हर साइट का एड्रेस पता होता था इसलिए और भी आसानी होती थी | जो हमको कहता था कि कश्मीर बार-बार आना नहीं होगा इसलिए जितना चाहो घूम लो | हम कश्मीर का पूरा मजा ले रहे थे और काम भी कर रहे थे | काम करते-करते मुझे वहां के लोगों के बारे में जानने को मिला एक बार का वाकया है हमको एक साइट पर शाम हो गयी |शाम का समय था इस वक्त रोजे चल रहे थे और रोजा खोलने का टाइम था | हम अपना काम कर रहे थे तभी वहां पर एक बंदा आया और उसने हमसे कहा रोजा खोलने का टाइम हो गया है | आप हमारे पास आ जाए और हमारे साथ खाना लें | मैंने उनको कहा कि मैं हिंदू हूं , रोजा नहीं रखता हूं ,मुझे रोजा खोलने की जरूरत नहीं है|  लेकिन उसने कहा चाहे हिंदू हो या मुस्लिम या फिर किसी भी जाति का अगर आप हमारे पास हैं रोजा खोलने के वक्त तो आप हमारे मेहमान हैं| मुझे याद है उसने हमें बहुत प्यार से खाना खिलवाया और वह जो सब खाते हैं वह हमको भी खिलवाया मुझे बड़ी प्रसन्नता हुई और मेरे मन में यह बात आई कश्मीर के लोग बहुत अच्छे हैं | कश्मीर के लोगों के अंदर बहुत प्यार है ,वे जातीधर्म नहीं देखते हैं |  मैं एक और दिन का वाकया बताता हूँ ,मेरे प्रोजेक्ट मैनेजर मिस्टर ताहिर हुसैन उन्होंने मुझे बताया कि आपको एक बंदे के साथ मिलकर काम करना है | उन्होंने मुझे उनका नाम इरशाद बताया और इरशाद को मुझसे मिलने के लिए बोला | 
Beautiful_Kashmir_axath

जब इरशाद पहली बार मुझसे मिले , वह एक रेस्टोरेंट में मुझसे मिले | मेरे साथ और भी बंदे थे |उन्होंने हम सबको खाना खिलवाया और मुझे इतना सम्मान दिया कि मैं उस सम्मान को कभी नहीं भुला सकता | मुझे लग ही नहीं रहा था कि वह वही कश्मीरी मुस्लिम है  जिसके बारे में मैंने लोगों से सुना था कि कश्मीर के मुस्लिम बहुत कट्टर होते हैं | लेकिन ऐसा कुछ नहीं था | उनके अंदर सिर्फ प्यार और आदर था |अगर मैं अपने दिल की बात कहूं वह मुझे बिल्कुल अपने भाई जैसे लगे | मुझे याद है मैं ईद के वक्त कश्मीर में ही था | ईद की रात को इरशाद भाई मेरे लिए सफेद रसगुल्ला का एक बहुत बड़ा डब्बा लेकर आए और बोलने लगे यह आपके लिए है ईद का तोहफा | वह डब्बा बहुत बड़ा था | वाकई मैं खुश था बाहर से भी और अंदर से भी | जो मैंने कश्मीर के बारे में सुना था और कश्मीर के लोगों के बारे में सुना था वह मेरी विचारधारा बदल रही थी | कश्मीर के लोग काफी अच्छे थे | मैं एक और घटना आपको बताना चाहूंगा, मैं एक साइट पर जा रहा था | साइट पर जाने से पहले साइट के  टेक्नीशियन से बात करनी होती थी | मैंने फोन पर साइट के टेक्नीशियन से बात की , बातों से मुझे लगा कि यह टेक्नीशियन पक्का वही कश्मीरी है जिनके बारे में सुना हुआ है | मैं साइट पर पहुंचकर उस टेक्नीशियन से मिला लेकिन मेरी सोच की सभी बातें गलत निकल गई वह टेक्नीशियन भी मेरे सामने बिल्कुल इस तरह पेश आ रहा था | जैसे वह मेरा भाई है | मैं इसका पूरा नाम तो नहीं जानता हां उसके नाम के आखिरी में वाणी आता था |जब मैंने उसको बताया कि हम अगले दिन पीर की गली घूमने जा रहे हैं तो उसने कहा कि मैं भी तुम्हारे साथ आने वाला हूं | मैं भी तुम्हारे साथ चलूंगा और अगर कोई पूछेगा तो मैं फोन ही बंद कर लूंगा | मुझे बहुत अच्छा लगा और मैंने उसे हां बोल दिया कि कल तुम भी हमारे साथ चलो और अगले दिन हम पीर की गली घूमने के लिए निकल गए |
Beautiful_kashmir_axath

 पीर की गली काफी ऊंचाई पर है | वहां का मौसम बहुत ठंडा रहता है | हमको वहां पर बहुत अच्छा लगा मुझे याद है वाणी उस दिन रोज से था और उसने रोजा,पानी पीकर खोला था | और जहां हमने पानी पिया था वह एक झरना था अरशद मुझे बोल रहा था कि आप अगर यहां नहा लें तो वह मुझे 1000 रुपये का नोट देंगे  , क्योंकि उसका पानी हड्डियां जमा देने वाला था |

Beautiful_Kashmir_axath

 हमने उस दिन का भरपूर आनंद उठाया और फिर हम वापस श्रीनगर आ गए हैं | श्रीनगर में मेरा रूम था बिल्कुल डल झील के पास | सब कुछ बहुत अच्छा चल रहा था | मन करता था कि बस यहीं रह जाऊं | कश्मीर ने मेरा मन जीत लिया था | तभी एक अजीब घटना घटी मैं एक साइट पर था और उस दिन शुक्रवार था | एक घटना बताने से पहले आपको बताता चलूं कि हर शुक्रवार को कश्मीर में पत्थरबाजी होती है जो कि मेरी सोच से परे है यह क्यों होती है | इस पर मैंने काफी बहस भी की लेकिन कुछ निष्कर्ष नहीं निकाल पाया| 
Beautiful_Kashmir_axath

 हर शुक्रवार को मस्जिदों में लोग इकट्ठे होते हैं और नमाज खत्म होने के बाद वह भारतीय मिलिट्री पर पत्थरबाजी करते हैं | नारे लगाते हैं ऑल मिलिट्री उनका विरोध करती है और पत्थरबाजी को रोकने की कोशिश करती है |अब मैं आप को उस घटना के बारे में बताता हूं मैं एक साइट पर था दिन शुक्रवार का ही था | मेरा काम लगभग पूरा हो चुका था | मुझे साइट के टेक्नीशियन ने बताया कि आज माहौल ज्यादा खराब होने वाला है ,इसलिए आप जल्द से जल्द यहां से निकलकर श्रीनगर में अपने रूम पर पहुंच जाए | उसने मेरे ड्राइवर को समझा दिया कहां-कहां से जाना है और कैसे सुरक्षित जा सकते हैं ड्राइवर ने वही सब कुछ फॉलो किया और वह मुझे सुरक्षित मेरे रूम पर छोड़ गया | शाम के टाइम अरशद मेरे पास आया उसने बोला कि कल से शायद कुछ काम नहीं होगा पूरा कश्मीर बंद होने वाला है | मैंने उससे पूछा कि आखिर ऐसा क्या हो गया कि पूरा कश्मीर बंद होने वाला है | उसने मुझे बताया कि बुरहान वाणी शहीद हो गया है | मैंने उससे पूछा कि यार बुरहान वाणी तो एक आतंकवादी था, उस शहीद कैसे बोल सकते है ? लेकिन कश्मीर के सभी बंदे उसको शहीद बता रहे थे | और आखिर ऐसा ही हुआ जैसे-जैसे टाइम बढ़ता गया पूरे कश्मीर को पता चल गया कि बुरहान वाणी मर गया है | वहां पर लगभग सभी चीजें बंद कर दी गयी । इंटरनेट सेवा समेत सब कुछ बंद कर दिया गया । पूरे कश्मीर में जगह जगह कर्फ्यू लग गया। हमलोग भी बस अपने रूम में कैद से हो गए थे। हम सिर्फ डलझील के आस पास ही घूम सकते थे। चारो तरफ फोर्स तैनात थी। पूरे कश्मीर में पत्थरबाजी, आगजनी, झड़पे हो रही थी। हमलोग न्यूज़ में सुनते रहते थे कि कहां क्या हो रहा है। 2 से 3 दिन के अंदर 25 लोगो की मौत हो चुकी थी।
उस दौरान मैंने कई लोगो से बात कि और उनकी मनोदशा को जानना चाहा। मैंने अपने होटल के सुपरवाइज़र से पूछा कि आप लोगो की क्या चाहत है, आप लोग चाहते क्या हो?
उनका जवाब सुनकर मैं हैरान था, उन्होंने कहाँ हम भारत से आज़ादी चाहते है। हम चाहते है कि कश्मीर में पाकिस्तान की करेंसी भी चलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम चाहते है कि कश्मीर में जो भी आये उसको वीसा और पासपोर्ट की जरूरत होनी चाहिए। मतलब के एक अलग देश। उनकी बातों से मुझे पता चला के उनके दिल मे भारतीय सेना के खिलाफ जहर भरा हुआ है।  मैं कश्मीर में सिर्फ 15 दिन रहा जबकि वे जन्म से वही रह रहे है । वो कश्मीर को और कश्मीर में हो रही घटनाओं के बारे में ज्यादा जानते होंगे। इसमे कोई दो राय नही की हमारी सेना अपनी जान पे खेलकर हमारी सीमाओ की सुरक्षा कर रही है लेकिन उनकी बातों से मुझे कुछ एहसास हुआ के वहाँ पे सेना कुछ गलत कार्यो को भी अंजाम दे रही है। किसी भी पहलू से इनकार नही किया जा सकता।
अगर मैं अपना निष्कर्ष निकालू तो मुझे कहना होगा वहां के लोगो के दिल काफी बड़े है अपने मेहमानों के लिए। कश्मीर में जाने वाला हर कोई उनके लिए मेहमान जैसा ही है। लेकिन भारत और भारतीय सेना का विरोध और उनका पाकिस्तान प्यार काफी अखरता है।
में कश्मीर में रहा हूँ इसलिए बहुत बेशब्री से उस दिन के इंतज़ार में हूँ जब कश्मीरी भारत को अपना देश मानेंगे और कश्मीर में सेना की जरूरत कम हो जाएगी।



अगर किसी के पास भी कोई तरीका हो या कोई आईडिया हो के कैसे कश्मीर मअमन ैन आ सकता है तो वो कॉमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Comments

Popular Posts